PCI comes out with draft Diploma in Pharmacy Exit Examination Regulations for new pharmacy diploma pass outs

फार्मेसी काउंसिल ऑफ इंडिया ने किया बहुत बड़ा फेरबदल अब डिप्लोमा इन फार्मेसी वाले छात्रों को पास करना होगा एग्जिट एग्जामिनेशन अन्यथा फार्मेसी रजिस्ट्रेशन से वंचित रह जाए जाएंगे

This draft was pass in December 31, 2018. यह नियम 31 दिसंबर 2018 से लागूAfter passing Diploma in Pharmacy (D.Pharm) course in any of the PCI approved colleges, students will have to appear for the exit exam. They can go for registration after clearing the exam. The candidates may appear for the exit examination conducted twice every year or as frequently as may be required as per the schedule of examination announced by the Prescribed Authority.

अब D.Pharm फाइनल ईयर पास करने के पश्चात छात्रों को अपनी एक और योग्यता सिद्ध करनी होगी उन्हें डिप्लोमा इन फार्मेसी एग्जिट एग्जामिनेशन pass करना होगा और अगर वे इस एग्जाम में पास होते हैं फार्मासिस्ट रजिस्ट्रेशन के लिए समर्थ होंगे अन्यथा रजिस्ट्रेशन नहीं करा पाएंगे | यह एग्जाम हर साल दो बार कराए जाने का प्रस्ताव पास हुआ है | डी फार्मा में अधिक प्राइवेट कॉलेज के खुल जाने के कारण शिक्षा की गुणवत्ता में आई कमी को देखते हुए क्या फैसला लिया गया हैं।

Syllabus & Exam Pattern

The exit exam shall have three papers of multiple choice questions in Pharmaceutics, Pharmacology, Pharmacognosy, Pharmaceutical Chemistry, Biochemistry, Hospital and Clinical Pharmacy, Pharmaceutical jurisprudence and Drug Store Management. The language of the examination shall be English. The test for each paper shall be of three hours’ duration. • The detailed scheme and syllabus of the exit exam shall be announced by the PCI in near future. • There shall be three papers of multiple choice questions in Pharmaceutics, Pharmacology, Pharmacognosy, Pharmaceutical Chemistry, Biochemistry, Hospital and Clinical Pharmacy, Pharmaceutical jurisprudence and Drug Store Management. • The language of the examination shall be English. The test for each paper shall be of 3 hrs. duration

न जाने क्यों इस परीक्षा को बहुत ही कठिन और लंबा बनाया गया है| इस एग्जाम में कुल 3 पेपर होंगे और प्रत्येक पेपर का पूरा डी फार्मा की दोनों सालों की सभी विषयों पर आधारित होगा जिसमें ऑब्जेक्टिव प्रकार केप्रश्न पूछे जाएंगे| सबसे आपके D.Pharm प्रथम वर्ष और द्तीय वर्ष के पूरे सिलेबस से कुल 3 पेपर बनाए जाएंगे एक पेपर में दो या तीन सब्जेक्ट को कवर किया जाएगा और हर पेपर में 100 100 प्रश्न होंगे | यह पेपर अलग-अलग दिन कराए जाएंगे एक पेपर के लिए मानक समय 3 घंटे दिए जाएंगे हो सकता है यह तीनों पेपर लगातार एक हफ्ते के अंदर 3 दिन संपन्न कराया जाएगा |

Criteria for Qualifying Pharmacy Exit Exam: A candidate shall be declared as having passed only if he obtains a minimum of 50% marks in each paper separately. A candidate shall have to pass all the three papers in the same attempt. However, there shall be no restriction on the number of attempts to appear in the examination These regulation shall not apply to the persons whose names are already entered in the register of pharmacists for the state, she clarified.

इस परीक्षा में पास होने के तरीके भी कठिन बनाई गई है जिसमें निम्नलिखित बातें हैं जैसे कि आपको एक ही प्रयास में तीनों पेपर निकालने होंगे अगर आप किसी प्रयास में आप 2 पेपर निकाल लेते हैं और एक नहीं निकाल पाते हैं तो आपको अगली बार तीनों पेपर की परीक्षा फिर से देना होगा कि एक कठिन है | दूसरी बात यह है कि आपको प्रत्येक प्रश्नपत्र में 50% अंक लाने होंगे जैसे यदि माना जाए कि प्रश्नपत्र 100 अंक का होगा आपको उत्तीर्ण होने के लिए 50 आना अति आवश्यक है यदि आप किसी दो प्रश्न पत्र में 70 या 80 अंक प्राप्त कर लेते हैं परंतु की 3rd प्रश्न पत्र में 49 नंबर ही पाते हैं तब भी आपको fail माना जाएगा और अगले प्रयास में आपको पुनः तीनों परीक्षा फिर से देनी होगी |

Registration of Candidate after passing Pharmacy Exit Exam: After having passed the Diploma in Pharmacy Exit Examination, A certificate of eligibility for enrollment and practice shall be issued to the successful candidate which will be presented before the State Pharmacy Council for registration as a pharmacist.

इस तीनों प्रश्न पत्र को उत्तीर्ण करने के पश्चात आप फार्मेसी टॉन्सिल के अनुसार रजिस्ट्रेशन करने के लिए सक्षम हो जाएंगे फिर आप अपना लाइसेंस बनवा कर Medical store का काम शुरू कर सकते हैं |

|Bolgger
Anurag Jaiswal
M.Pharm Assistant Professor

Leave a Reply

%d bloggers like this: